भारत के नंबर 1 सामान्य ज्ञान पोर्टल पर आपका स्वागत है जिसे सैकड़ो किताबों के निचोड़ से बनाया गया है इसके अलावे प्रतिदिन आपको करेंट अफेयर्स,जॉब अलर्ट का सबसे पहले जानकारी देता है और बहुत जल्द ही Bank ,SSC ,Railway & Other Exams का टेस्ट प्रतिदिन आयोजित किया जा रहा है जो बिलकुल फ्री होगा जिससे आप अपने तैयारी की प्रतिशतता जाँच सके |
करेंट अफेयर्स

.

► हाल में ही देश में पहली बार किस इंटरनैशनल एयरपोर्ट में फेस रेकग्निशन (एफआर) सिस्टम लांच किया गया है ?

A)दिल्ली

B)हैदराबाद

C)चेन्नई

D)मुंबई

      उत्तर:-B)हैदराबाद

      महत्वपूर्ण तथ्य

  • हाल में ही देश में पहली बार हैदराबाद के राजीव गांधी इंटरनैशनल एयरपोर्ट में फेस रेकग्निशन (एफआर) सिस्टम का ट्रायल लांच किया गया !
  • यह ट्रायल 1 जुलाई से लेकर 31 जुलाई तक जारी रहेगा.
  • इस सिस्टम के तहत पहले दिन 120 यात्रियों ने बिना सुरक्षाकर्मियों से अपनी आईडी चेक कराने के कैमरे में देखकर एयरपोर्ट में एंट्री की।
  • यह ट्रायल फेस रेकग्निशन सिस्टम केंद्र के डिजीयात्रा योजना का हिस्सा है।
  • आरंभ में इसे केवल एयरपोर्ट के एंट्री पॉइंट्स पर लगाया गया है। बाद में इसे सभी सिक्युरिटी चेक पॉइंट्स पर लगाया जाएगा !
  • फेस रेकग्निशन एक ऐसा सिस्टम है जिसमे पैसेंजर को अपनी पहचान कराने के लिए कहीं रुकना नहीं पड़ता है  और वे केवल अपना चेहरा कैमरे में दिखाकर आगे बढ़ते रहता है.
  • वर्तमान में एयरपोर्ट पर हर पैसेंजर का आईकार्ड चेकर करने में कम से कम आधा मिनट लगता है।
  • अभी यह सुविधा केवल उन्हीं यात्रियों को मुहैया कराई गई है जो हैंड बैगेज के साथ दिल्ली, मुंबई, बेंगलुरु, चेन्नै, विशाखापट्टनम और विजयवाड़ा के लिए उड़ान भरेंगे।
  • इस सिस्टम को लांच करने का मुख्य उदेश्य हवाई यात्रा को पेपरलेस बनाना है !

     डिजीयात्रा योजना

  • डिजीयात्रा योजना की शुरुआत विमानन मंत्रालय द्वारा 04 अक्टूबर 2018 में किया गया था !
  • इस प्रणाली के तहत यात्रियों का एक केन्द्रीयकृत प्रणाली के जरिए एक आईडी दी जाती है, जिसमे यात्रियों का नाम, उनकी -मेल आईडी, मोबाइल नंबर और आधार होने की स्थिति में कोई अन्य पहचान पत्र का विवरण अंकित होता है.
  • इससे यात्रियों को बोर्डिंग पास की जरूरत नहीं होती है !

यह भी पढ़े:-महाराजा रणजीत सिंह की प्रतिमा का अनावरण

Read More >>
.

► हाल में ही महाराजा रणजीत सिंह की 180वीं पुण्‍यतिथि पर उसके तस्वीर को पाकिस्तान के किस शहर में अनावरण किया गया ?

A)इस्लामाबाद

B)लौहार

C)रावलपिंडी

D)मुल्तान

     उत्तर:-B)लौहार

     महत्वपूर्ण तथ्य

  • 28 जून 2019 को महाराजा रणजीत सिंह की 180वीं पुण्‍यतिथि के अवसर पर पाकिस्‍तान के लाहौर में उनकी प्रतिमा का अनावरण किया गया।
  • महाराजा रणजीत सिंह की यह मूर्ति लाहौर किले में माई जिंदियाँ हवेली के बाहर लगाई गई है।
  • यह प्रतिमा वॉल्ड सिटी ऑफ लाहौर अथॉरिटी ने ब्रिटेन स्थित सिख हेरिटेज फाउंडेशन के सहयोग से तैयार की है।
  • इस हवेली का नामकरण रणजीत सिंह की सबसे छोटी रानी के नाम हुआ था.इस हवेली में सिख कलाकृतियों की एक स्थायी प्रदर्शनी है जिसे सिख गैलरी कहा जाता है।
  • गौरबतलब की बात है की महाराजा रणजीत सिंह की समाधि और गुरु अर्जुन देव द्वारा स्थापित गुरुद्वारा डेरा साहिब का भवन भी उसी जगह है।
  • महाराजा रणजीत सिंह सिख साम्राज्य के राजा थे। वे शेर-ए पंजाब के नाम से प्रसिद्ध हैं।
  • महाराजा रणजीत सिंह का जन्म सन 1780 में गुजरांवाला (अब पाकिस्तान) में हुआ था !
  • उन्होंने अमृतसर के हरिमन्दिर साहिब गुरूद्वारे में संगमरमर लगवाया और सोना मढ़वाया, तभी से उसे स्वर्ण मंदिर कहा जाने लगा।
  • सन 1839 में महाराजा रणजीत का निधन हो गया। उनकी समाधि लाहौर में बनवाई गई.

यह भी पढ़े:-अंतर्राष्ट्रीय बीज परीक्षण संघ का 32वाँ सम्मेलन

Read More >>
.

► हाल में ही अंतर्राष्ट्रीय बीज परीक्षण संघ (International Seed Testing Association- ISTA) का 32वाँ सम्मेलन भारत के किस शहर में संपन्न हुआ ?

A)जयपुर

B)हैदराबाद

C)पटना

D)पुणे

      उत्तर:-B)हैदराबाद

      महत्वपूर्ण तथ्य

  • हाल ही में अंतर्राष्ट्रीय बीज परीक्षण संघ का 32वाँ सम्मेलन हैदराबाद,भारत में संपन्न हुआ।
  • इस सम्मलेन में भारत सरकार द्वारा भारत में वर्ष 2022 तक किसानो की आय दोगुना करने में गुणवत्तापूर्ण बीजों की महत्त्वपूर्ण भूमिका बताई !
  • इसी उद्देश्य से केंद्र सरकार द्वारा देश में बीज गुणवत्ता सुधार योजना के तहत बीज की गुणवत्ता का पता लगाने के लिये बार कोड और क्यूआर कोड को जून 2020 तक अनिवार्य कर दिया जायेगा ।
  • वर्तमान में भारत में कुल 130 बीज परीक्षण प्रयोगशालाएँ , 25 बीज प्रमाणीकरण प्राधिकरण मौजूद हैं, इसके अलावा भारत दुनिया का 5वाँ सबसे बड़ा बीज बाजार भी है।
  • इस सम्मलेन में कुल 60 देशो की कम्पनियाँ के प्रतिनिधियों ने भाग लिया !
  • यह पहला अवसर है की अंतर्राष्ट्रीय बीज परीक्षण संघ, की सम्मलेन दक्षिण एशिया के किसी शहर में आयोजित किया गया हो !
  • अंतर्राष्ट्रीय बीज परीक्षण संघ (ISTA) की स्थापना 1924 में हुई थी.
  • इसका मुख्यालय स्विट्ज़रलैंड में स्थित है।
  • इसका मुख्य उद्देश्य बीज परीक्षण के क्षेत्र में मानक प्रक्रियाओं को विकसित करना और प्रकाशित करना है.

यह भी पढ़े:-जीएसटी दिवस

Read More >>

Latest Job Uptodate